purnima 2023 mein kab kab hai

Purnima 2023 Date : 2023 में पूर्णिमा कब कब है | Purnima Vrat 2023 List in Hindi

पूर्णिमा व्रत 2023 में कब है, वैशाख पूर्णिमा 2023 में कब है, माघ पूर्णिमा 2023 में कब है, पूर्णिमा क्या है, पूर्णिमा का महत्व, 2023 में कब कब है पूर्णिमा, पूर्णिमा 2023 तारीख जाने, साल 2023 में पूर्णिमा कब कब है, पूर्णिमा व्रत 2023 की तिथि कब है, व्रत की पूर्णिमा कब है 2023

आज हम आपको बताने जा रहे है की साल 2023 में पूर्णिमा व्रत के सारे व्रत की लिस्ट आप कैसे जान सकते हैं इसके साथ आप पूर्णिमा व्रत क्या है? क्यों रखा जाता है पूर्णिमा का व्रत? तो आज हम इस पोस्ट में इन्ही विषयों पर चर्चा करेंगे और साथ ही जानेगे की पूर्णिमा कौन कौन से तिथि को पड़ रही हैं।

पूर्णिमा व्रत 2023

पूर्णिमा एक भारतीय संस्कृत और नेपाली शब्द हैं जिसका अर्थ पूर्णचन्द्र होता है इस दिन पूर्णिमा का चाँद पूरा आकार में होता हैं, पूर्णिमा व्रत हर महीने में आता है जो इस महीने के दो पक्षों के रूप में विभाजित किया गया है जो इसे हम शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष के नामों से जानते हैं।

हिन्दू पंचांग के अनुसार, पूर्णिमा का व्रत सुबह के सूर्योदय से शुरू होता है और शाम चंद्र दरशन के साथ समाप्त हो जाता है, इसके आलावा माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु जी की पूजा अर्चना करने से आपकी हर मनोकामना पूरी हो जाती हैं।

साल 2023 में पड़ने वाले सारे पूर्णिमा व्रत कौन से दिन एवं पूर्णिमा व्रत कब-कब पड़ रही हैं जो आप नीचे की सूचियों में आसानी से देख सकते हैं।

पूर्णिमा व्रत 2023 की सूची – Purnima Vrat 2023 List

दिनांकदिनपूर्णिमा व्रत
6 जनवरी, 2023शुक्रवारपौष पूर्णिमा व्रत
5 फरवरी, 2023रविवारमाघ पूर्णिमा व्रत
7 मार्च, 2023मंगलवारफाल्गुन पूर्णिमा व्रत
5 अप्रैल, 2023बुधवारचैत्र पूर्णिमा व्रत
5 मई, 2023शुक्रवारवैशाख पूर्णिमा व्रत
3 जून, 2023शनिवारज्येष्ठ पूर्णिमा व्रत
3 जुलाई, 2023सोमवारआषाढ़ पूर्णिमा व्रत
1 अगस्त, 2023मंगलवारश्रावण अधिक पूर्णिमा व्रत
30 अगस्त, 2023बुधवारश्रावण पूर्णिमा व्रत
29 सितम्बर, 2023शुक्रवारभाद्रपद पूर्णिमा व्रत
28 अक्टूबर, 2023शनिवारअश्विन पूर्णिमा व्रत
27 नवंबर, 2023सोमवारकार्तिक पूर्णिमा व्रत
26 दिसंबर, 2023मंगलवारमार्गशीर्ष पूर्णिमा व्रत

पूर्णिमा का महत्व

हिन्दू पंचांग के अनुसार, पूर्णिमा व्रत हर महीने में पड़ता है. यह वर्ष के 12 महीनों में बारह पूर्णिमा व्रत होती है हिन्दू धर्म में पूर्णिमा तिथि पर कोई न कोई व्रत और त्यौहार अवश्य पड़ता है। पूर्णिमा का व्रत हिन्दू धर्मो के लिए बेहद ख़ास माना गया है इस दिन स्नान दान, पुण्य, अवगत करना और विशेष फलदायी माना जाता हैं।

ऐसे में बहुत सारे श्रद्धालु लोग पूर्णिमा तिथि के दिन तीर्थ स्थान का दरशन करने जाते हैं और वहां की पवित्र नदियों में स्नान करते हैं तथा अपने यथाशक्ति के अनुसार दान भी करते हैं। आपको बता दे की पूर्णिमा के दिन भगवान सत्यनारायण जी का पाठ करना काफी शुभ माना गया है इनकी पाठ करने से मानसिक शांति और हर प्रकार का सुख मिलता हैं।

आपको यह जानकारी जानकर ख़ुशी होंगी अगर आप इसी तरह के पोस्ट चाहते है तो आप इस वेबसाइट को फॉलो कर ले. आज के लिए इतना ही अगले टॉपिक के साथ फिर मिलेंगे। जय हिन्द वन्दे मातरम

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!